PCOD की वजह से मेरे लिए मुश्किल था वजन कम करना: सारा अली खान
सारा अली खान ने बताया कि वो 96 किलो की थीं और PCOD के कारण उनके लिए वजन कम करना मुश्किल था.
सारा अली खान ने बताया कि वो 96 किलो की थीं और PCOD के कारण उनके लिए वजन कम करना मुश्किल था.(फोटो: स्क्रीनशॉट हॉट स्टार)

PCOD की वजह से मेरे लिए मुश्किल था वजन कम करना: सारा अली खान

फिल्म ‘केदारनाथ’ के साथ अपने बॉलीवुड करीयर की शुरुआत करने जा रही एक्ट्रेस सारा अली खान ने 'कॉफी विद करन सीजन 6' में बताया कि वो पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम (PCOS) से पीड़ित रही हैं, जो अभी भी है. इसे PCOD भी कहते हैं.

Loading...

96 किलो था सारा का वजन

सारा अली खान अमृता सिंह और सैफ अली खान की बेटी हैं. शो में अपने 96 किलो वजन की चर्चा करते हुए सारा ने कहा, 'मुझे PCOD था और अभी भी है. इस वजह से मेरा वेट इतना बढ़ गया और मेरे लिए वजन कम करना मुश्किल रहा.'

क्या है पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम?

पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम एक मेटाबॉलिक डिसॉर्डर है, जो महिलाओं में हार्मोन्स को असंतुलित करता है. PCOS से जूझ रही महिलाओं को आमतौर पर उनके पीरियड्स के असमय आने की समस्या होती है. उनके शरीर में एंड्रोजन नाम का पुरुषों में होने वाले हार्मोन की अधिकता हो जाती है. और तब ओवरी में पानी से भरी कई छोटी-छोटी ग्रंथियां बनने लगती हैं, जिसे पॉलीसिस्टिक ओवरी कहते हैं.

ये भी पढ़ें : PCOS से पीड़ित महिलाओं की संतान को ऑटिज्म का खतरा ज्यादा: रिपोर्ट

PCOS के लक्षण

  • वजन बढ़ना
  • थकान
  • अवांछित बाल उगना
  • बाल पतले होना
  • बांझपन
  • मुंहासे
  • पैल्विक पेन
  • सिर दर्द
  • नींद की समस्याएं
  • मूड स्विंग
पीसीओएस ठीक नहीं हो सकता, लेकिन इसे शरीर का वजन पांच से 10 प्रतिशत तक कम कर और जीवनशैली में बदलाव लाकर मैनेज किया जा सकता है. साथ ही एक्टिव लाइफस्टाइल और हेल्थी खाना भी जरूरी है. इससे पीरियड्स साइकिल रेगुलर रहने और ब्लड शुगर लेवल को कम करने में मदद मिलेगी. 
डॉ केके अग्रवाल
मैक्स सुपर स्पेशिएलिटी की महिला रोग विशेषज्ञ डॉक्टर मंजू खेमानी के मुताबिक भी लाइफस्टाइल में बेहतर बदलाव और खानपान का ख्याल रख कर PCOS से बचा जा सकता है और साथ ही इससे होने वाली समस्या को कम किया जा सकता है.

क्या करें?

खाने में हाई फाइबर वाली चीजें शामिल करें
खाने में हाई फाइबर वाली चीजें शामिल करें
(फोटो: iStock)
  • खाने में हाई फाइबर वाली चीजें शामिल करें. जैसे- ब्रोकली, फूलगोभी, पालक.
  • बादाम, अखरोट, ओमेगा और फैटी एसिड से भरपूर चीजें खाएं.
  • तीन बार अधिक भोजन करने की बजाए कम मात्रा में पांच बार खाना खाएं. इससे मेटाबॉलिज्म ठीक रहेगा.
  • वजन पर नियंत्रण रखें.
  • हफ्ते में 5 दिन रोज करीब आधे घंटे तक एक्सरसाइज करें.
  • योग और ध्यान के जरिए तनाव से बचें.
  • धूम्रपान से बचें और शराब न पीएं.

ये भी पढ़ें : महिलाओं के मानसिक स्वास्थ्य पर PCOS का क्या प्रभाव पड़ता है?

Follow our नारी section for more stories.

    Loading...