सेक्सॉल्व: ‘मैं मांगलिक हूं. मुझे शादी के लिए लड़का कैसे मिलेगा?’
‘मुझे बताया गया है कि अगर मैं गैर-मांगलिक से शादी करती हूं, तो मेरे पति की मृत्यु हो जाएगी.’
‘मुझे बताया गया है कि अगर मैं गैर-मांगलिक से शादी करती हूं, तो मेरे पति की मृत्यु हो जाएगी.’(फोटो: iStock)

सेक्सॉल्व: ‘मैं मांगलिक हूं. मुझे शादी के लिए लड़का कैसे मिलेगा?’

सेक्सॉल्व समता के अधिकार के पैरोकार हरीश अय्यर का फिट पर सवाल-जवाब आधारित कॉलम है.

अगर आपको सेक्स, सेक्स के तौर-तरीके या रिलेशनशिप से जुड़ी कोई परेशानी है, कोई उलझन है, जिसे आप हल नहीं कर पा रहे हैं, या आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखिए और वह आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाब:

'मैं डिप्रेशन से पीड़ित हूं और प्यार की तलाश कर रहा हूं'

डियर रेनबोमैन,

मैं 22 साल का गे हूं. मुझे क्रोनिक क्लीनिकल डिप्रेशन होने का पता चला है. मेरे कई रिलेशनशिप रहे हैं. लेकिन अब मैं यह सोचकर उन रिश्तों से बाहर आ चुका हूं कि ये छूट कर या उन लोगों को ठेस पहुंचाकर खत्म हो जाएंगे. मैं प्यार के बारे में सोचकर या उसे महसूस करके ही नफरत से भर जाता हूं क्योंकि मैं ऐसी किसी चीज का हकदार नहीं हूं. मेरे पिछले बॉयफ्रेंडों से मेरे रिश्ते बहुत अच्छे रहे हैं. मेरी अब उनसे कोई बातचीत नहीं होती है. मेरा ध्यान पाने की बेकरारी में उन्हें दर्द में देखकर मेरे रोंगटे खड़े हो जाते हैं. मैं एक बेहतर रिलेशनशिप चाहता हूं.

टूटा हुआ दिल

आप किसी से भी प्यार कर सकते हैं, चाहे वो जो भी हो.
आप किसी से भी प्यार कर सकते हैं, चाहे वो जो भी हो.
(फोटो: iStock)

प्रिय टूटे हुए दिल,

मुझे खुशी है कि आप मेंटल हेल्थ प्रोफेशनल के पास गए. बीमारी का पता लगना स्वस्थ होने की दिशा में पहला कदम है. मैं खुश हूं कि आप अभी पहले चरण पर हैं और आपको अपने काउंसलर या साइकाइट्रिस्ट के पास नियमित रूप से जाने की जरूरत है.

काउंसलिंग किसी भी समस्या का झट से हल पाना नहीं है. यह एक प्रक्रिया है. मेंटल हेल्थ के केस में आपको नियमित होने की आवश्यकता होती है.

मेरी आपको सलाह है किसी भी दूसरे रिश्ते से जुड़ने से पहले आप अपने मानसिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें.

बातचीत करने की चाह रखने वाले बॉयफ्रेंड को छोड़ देने की फीलिंग अच्छी नहीं होती. ये रिलेशनशिप के लिए ठीक नहीं है. आप किसी से भी प्यार कर सकते हैं, चाहे वो जो भी हो. मुझे पूरा यकीन है कि आपका बॉयफ्रेंड भी आपसे प्यार करता है. उसके साथ बातचीत बनाए रखें. उस पर अपने विचारों को न थोपें. उसे इस बात को स्वीकार करने दें कि अब आप उसके साथ नहीं हैं.

सभी को रिश्तों को खत्म करने का अधिकार है. एक रिलेशनशिप दो लोगों के बीच होती है. उसे रिश्ते को खत्म करने के लिए समय दें. यह एक ऐसा तरीका हो, जिसे वो परिभाषित कर सके न कि आप अपनी सोच के अनुसार उसे परिभाषित करें.

और हां, चीजें बदलती हैं. चीजों में बदलाव बेहतरी के लिए होता है. ऐसा होता है और हमेशा होगा.

मुस्कुराइए

रेनबोमैन

अंत में: काउंसलर के साथ अभी अप्वाइंटमेंट लें.

'आपको हर बार अपनी कहानी बताने की जरूरत क्यों पड़ती है?'

डियर रेनबोमैन,

मैं यह समझ नहीं पाता हूं कि क्यों आपको सामने आकर हर बार अपनी कहानी के बारे में बताने की जरूरत पड़ती है. आपको छत पर जाकर चिल्लाने और चीखने की क्या जरूरत है कि आपका उत्पीड़न और रेप हुआ और यह कि आप गे हैं? क्या यह खुद का प्रचार करना नहीं है?

एंग्री भाऊ

अपनी कहानियों को बताने में कुछ भी गलत नहीं है.
अपनी कहानियों को बताने में कुछ भी गलत नहीं है.
(फोटो: iStock)

प्रिय भाऊ,

पहले, थोड़ा पानी पीएं. बहुत ज्यादा गुस्सा करना सेहत के लिए अच्छा नहीं है.

(जिन्हें पता नहीं है उनके लिए, 7 साल से 18 साल की उम्र तक मेरा रेप किया गया था.)

मैं आपके प्रश्न को अनदेखा कर सकता था, लेकिन मैंने जवाब देना चुना क्योंकि यह सिर्फ मेरे बारे में नहीं है, बल्कि उन कई लोगों के बारे में है, जो अपने साथ रेप होने या दुर्व्यवहार या समलैंगिक होने की कहानियों को बताने से डरते हैं. मैं आज उन सभी की ओर से खड़ा हूं.

सबसे पहले, अपनी कहानियों को बताने में कुछ भी गलत नहीं है. यह कभी-कभी अपने लिए इलाज का काम करता है. कभी-कभी यह दूसरों के इलाज के लिए होता है. अपनी कहानियों को सुनाने या बताने के बाद हमें हल्का महसूस करने में मदद मिलती है. तथ्य यह है कि हम एक गड्ढे में गिर गए और चलने के लिए अपनी ताकत को वापस पा लिया. यह इस बात की गवाही है कि हम जीवन में आगे बढ़ने और फिर से कुछ हासिल करने के तरीके जानते हैं. जबकि हम हर बार इस बात की पैरवी नहीं कर सकते हैं. तथ्य यह है कि हमें अपनी कहानियों को साझा करने के लिए साहस से अधिक किसी और चीज की जरूरत होती, यह देखते हुए कि हमारा अतीत दर्दभरा है.

दूसरा, हर बार जब हम बोलते हैं तो यह हमें तोड़ कर रख देता है क्योंकि हम अपने अतीत के एक ऐसे हिस्से को सामने रख रहे होते हैं, जो दर्द भरा है. हालांकि, हम अपनी पूरी ताकत को फिर से हासिल कर लेते हैं.

जो लोग अपने जीवन की कहानियों के बारे बताते हैं, हम उनके लिए कम से कम इतना तो कर सकते हैं कि हम उसके बारे में कोई फैसला न सुनाएं.

तीसरा, याद रखें कि हर महिला जो एक मंगलसूत्र पहनती है, हर आदमी जो एक अंगूठी पहनता है, हर बच्चे का नामकरण समारोह जो सामान्य (हेट्रोसेक्सुअल) लाइफस्टाइल और सामान्य सोच की बात करता है. हम विचित्र लोग हेट्रोसेक्सुअल्स को अपने समाज के एक हिस्से के रूप में स्वीकार कर लेते हैं. हम इस हेट्रोसेक्सुएलिटी के अति दिखावे की शिकायत नहीं करते. यह समय है कि आप कुछ शिष्टाचार सीखें और इनका समर्थन करें.

मुस्कान

रेनबोमैन

अंत में: आप कम स्ट्रेट रहें, मैं कम समलैंगिक रहूंगा.

'मैं एक मांगलिक लड़की हूं, अपने लिए जीवनसाथी की तलाश नहीं कर पा रही हूं'

डियर रेनबोमैन,

मैं एक 27 वर्षीय लड़की हूं और एक बहुत ही शिक्षित परिवार से हूं. मैं पीएचडी कर रही हूं. मेरा परिवार अच्छा है. हालांकि एक समस्या है. मैं मांगलिक हूं. मेरी शादी पेड़ों से लेकर कुत्तों, यहां तक कि ड्रैगन फ्लाई (एक तरह का पतंगा) से हुई है. मेरे माता-पिता ने यह यह सब इसलिए किया है कि किसी भी तरह से मेरी शादी हो जाए.

उन्होंने मेरे लिए देश के हर कोने में लड़का खोजने की कोशिश की. लेकिन तथ्य यह है कि मैं अभी भी सिंगल हूं.

क्या मैंने पाप किया है? क्या मैंने ऐसा कुछ गलत किया है कि मुझे प्यार करने के लिए कोई लड़का न मिले? मुझे बताया गया है कि अगर मैं गैर-मांगलिक से शादी करती हूं तो मेरे पति की मृत्यु हो जाएगी. मैं जोखिम नहीं लेना चाहती. मुझे खुशी है कि मेरे माता-पिता उस व्यक्ति के जीवन की रक्षा कर रहे हैं, जो यह सुनिश्चित करके मुझसे शादी करेगा कि मैं किसी गैर-मांगलिक व्यक्ति से शादी नहीं करूंगी. हालांकि, मैं बहुत निराश हूं. क्या मेरा भाग्य इतना बुरा है? भगवान ने मुझे मांगलिक होने के लिए क्यों चुना है? मेरा जीवन कैसे गुजरेगा?

दिन में सपने देखने वाली

‘भगवान ने मुझे मांगलिक होने के लिए क्यों चुना है?’ 
‘भगवान ने मुझे मांगलिक होने के लिए क्यों चुना है?’ 
(फोटो: iStock)

प्रिय दिन में सपने देखने वाली,

अपनी आस्था के बोझ तले क्यों अपने सपनों को कुचल रही हो? हो सकता है कि मैं भगवान पर यकीन न करूं, लेकिन मैं निश्चित रूप से कर्म में यकीन रखता हूं. दयालुता ऐसा चक्र है, जो घूम कर वापस आप तक आता है. अगर आप किसी से प्यार करेंगे, तो बदले में आपको भी प्यार ही मिलेगा. मैं इस बात पर यकीन करना चाहूंगा कि भाग्य और भगवान उसके साथ ही खड़े होते हैं, जो दयालु और उदार होता है.

क्या आपको लगता है कि भगवान बुरा है और वह कोई ऐसा व्यक्ति है, जो दंड देता है और फटकारता है, लेकिन प्यार नहीं करता, गले नहीं लगाता है?

अगर आप अपने भगवान से प्यार करते हैं, तो विश्वास रखें कि ईश्वर उन लोगों का भला करेगा, जो दूसरों का भला करते हैं. भगवान पर भरोसा करें कि वे कोई गलती नहीं करेंगे. वे आपको प्यार के बदले प्यार देंगे और नफरत के बदले नफरत देंगे.

एक और सलाह, आप पेड़ से लेकर कुत्ते और पतंगे से शादी क्यों कर रही हैं? इसके बजाए आप अच्छे कर्म बिंदुओं को संचित करने में क्यों नहीं जुट जाती हैं? हर धर्म और हर भगवान अच्छे कर्म के लिए खड़ा है. तो, एक अच्छा काम करते हैं. एक अच्छी बात बोलें. किसी हाशिए पर पड़े को मुख्यधारा में आने में मदद करें.

अपने लिए खड़े हों. मैं समझता हूं कि माता-पिता चिंतित हैं, लेकिन बावजूद इसके यह जिंदगी आपकी है. आप अपने दिल की सुनें और इसे लोगों के लिए खोलें.

आपको अपना साथी तभी मिलेगा, जब आप उसे ढूंढेंगी. लेकिन पहले, आपको इन प्रथाओं के अधीन होना बंद करना होगा.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन

अंत में: आप अपना ख्याल रखें. ठीक है?

(लोगों की पहचान सुरक्षित रखने के लिए नाम और कुछ ब्योरे बदल दिए गए हैं. आप भी अपने सवाल sexolve@thequint.com पर भेज सकते हैं.)

(हरीश अय्यर एलजीबीटी कम्युनिटी, महिलाओं, बच्चों और जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले समान अधिकार एक्टिविस्ट हैं.)

(FIT अब टेलीग्राम और वाट्स एप पर भी उपलब्ध है. आप जिन मुद्दों की परवाह करते हैं, उन पर चुनिंदा स्टोरीकोपानेकेलिए हमारे Telegram और WhatsApp चैनल को सब्सक्राइब करें.)

Follow our सेक्सॉल्व section for more stories.