सेक्सॉल्व: ‘मैं जिससे प्यार करता हूं, वो मुझे दिलफेंक समझती है’
‘मैंने एक लड़की को प्रपोज किया, लेकिन वह समझती है कि मैं एक दिलफेंक आशिक हूं’
‘मैंने एक लड़की को प्रपोज किया, लेकिन वह समझती है कि मैं एक दिलफेंक आशिक हूं’(फोटो: iStockphoto)

सेक्सॉल्व: ‘मैं जिससे प्यार करता हूं, वो मुझे दिलफेंक समझती है’

अगर आपको सेक्स, सेक्स के तौर-तरीकों या रिलेशनशिप से जुड़ी कोई परेशानी है, कोई उलझन है, जिसे आप हल नहीं कर पा रहे हैं, या आपको किसी तरह की सलाह की जरूरत है, किसी सवाल का जवाब चाहते हैं या फिर यूं ही चाहते हैं कि कोई आपकी बात सुन ले- तो हरीश अय्यर को लिखें और वह आपके लिए ‘सेक्सॉल्व’ करने की कोशिश करेंगे. आप sexolve@thequint.com पर मेल करें.

पेश हैं इस हफ्ते के सवाल-जवाबः

‘मेरी बीवी मेरी प्रॉपर्टी हड़पना चाहती है’

(फोटो: iStockphoto)
(फोटो: iStockphoto)
“उसका किसी के साथ अफेयर चल रहा है.”

डियर रेनबोमैन,

कृपया मेरी मदद कीजिए. मैं एक बड़ी परेशानी में हूं. मेरी बीवी मेरी प्रॉपर्टी हड़पना चाहती है. उसका किसी से अफेयर चल रहा है और मुझसे पैसे हड़पने के लिए कोई बहाना ढूंढ रही है. मेरा आत्महत्या करने का मन हो रहा है. मुझे लगता है कि केवल यही एक चीज है, जो मुझे तब करनी चाहिए जब मैं किसी के लिए किसी काम का न रह जाऊं. मुझे लगता है कि मैं कोई बेकार चीज हूं, लोग मुझे इस्तेमाल करते हैं और फेंक देते हैं. मैंने उसे बहुत प्यार किया है. मैंने उसे हमेशा प्यार किया. मैं हर वक्त उसके बारे में सोचता हूं. उसने मेरा इस्तेमाल किया और फिर फेंक दिया. उसने मुझसे कहा कि अगर मैं अपनी दो प्रॉपर्टी में से एक उसे नहीं दूंगा तो वह मेरे खिलाफ केस कर देगी. उसने कहा कि वह मेरी मां के खिलाफ भी केस दर्ज करा देगी. मैं तंग आ गया हूं. मैं थक गया. मैंने कुछ गलत नहीं किया है. क्या मुझे मर जाना चाहिए? मुझे मर जाना चाहिए. मैं आपसे क्यों पूछ रहा हूं, क्यों बता रहा हूं. मुझे मर जाना चाहिए. सुनने के लिए धन्यवाद. मुझे आपको बताकर अच्छा लग रहा है, लेकिन मुझे पता है कि आप नारीवादी हैं और आप मेरे साथ खड़े नहीं होंगे. मैं एकदम अकेला हूं. फिर भी मुझे लगा कि आपको बता देना चाहिए.

पढ़ने के लिए धन्यवाद. आप मुझे अनदेखा कर सकते हैं. मुझे बुरा नहीं लगेगा. मैंने ठुकराए जाने को स्वीकार करने की आदत डाल ली है.

निराश युवा पति

Loading...

डियर निराश युवा पति,

मेरे साथ अपनी बात साझा करने के लिए शुक्रिया. मुझ पर भरोसा रखने के लिए शुक्रिया. मैं शुक्रगुजार हूं.

मुझे पता है कि ऐसा वक्त आता है, जब जिंदगी हमें ठोकर मार देती है. उन लम्हों में, लगता है सब कुछ गलत हो रहा है. हो सकता है मैं हकीकत में महसूस नहीं कर पा रहा हूं कि आप क्या महसूस कर रहे हैं, लेकिन मैं आपको निश्चित रूप से बता सकता हूं कि मैं जानता हूं कि कैसा होता है दिल पर चोट लगना, टूट जाना, किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा धोखा दिया जाना, जो आपका अजीज है- यह सब जिंदगी का एक जाना-पहचाना मोड़ है. यह पहचानी हुई जगह है.

नारीवाद यह धारणा नहीं है कि महिलाएं कोई गलत काम नहीं कर सकती, नारीवाद एक ऐसी दुनिया की फिर से कल्पना करने का हौसला करना है, जहां सभी जेंडर बराबरी के साथ खड़े होंगे.

मुझे अफसोस है कि आपको जिंदगी में ये सब झेलना पड़ रहा है. मैं चाहता हूं कि आप गंभीरता से इस बारे में सोचें कि आप अपने रिश्ते से क्या चाहते हैं. साथ ही आपको एक वकील की जरूरत है. आपको मनोवैज्ञानिक की भी जरूरत है. मैं यह वादा नहीं करता कि आपकी जिंदगी आसान हो जाएगी, मैं निश्चित रूप से आपको यकीन दिलाना चाहता हूं कि विशेषज्ञों पर थोड़ा-सा भरोसा और मदद से आप यह लड़ाई जीत लेंगे.

अगर आपको लगता है कि आप उदास हैं और किसी से बात करनी चाहिए तो आप ट्विटर पर मुझे @hiyer पर व्यक्तिगत रूप से लिख सकते हैं. अगर आपको मनोवैज्ञानिक या वकील ढूंढने में किसी की मदद की जरूरत है, तो मुझसे कहें और मैं आपकी शुरुआती मुलाकात के लिए आपके साथ रहना पसंद करूंगा.

हालांकि मुझे नहीं लगता कि हमें यहां कोई एकतरफा सामान्यीकरण करना चाहिए, लेकिन मैं जानता हूं कि महिलाएं इंसान हैं और सभी इंसानों में अच्छा और बुरा होने की संभावना है.

मुस्कान के साथ,

रेनबोमैन.

अंतिम बात: चीजें बेहतर हो जाएंगी.

मैंने अपनी दोस्त को प्रपोज किया और अब वो बात नहीं कर रही, मैं क्या करूं?

डियर रेनबोमैन,

मैं इन दिनों करीब 6 हफ्ते से अपनी स्कूल के समय की एक दोस्त से बातचीत कर रहा हूं. एक दिन, मैंने उसे ये बताने का फैसला किया कि मैं उसे प्यार करता हूं, और अब उसे लगता है कि मैं एक दिलफेंक आशिक हूं. अब वह मुझसे बात नहीं करती और मुझे लगता है कि मैंने उसे प्रपोज करके बेवकूफी की. मुझे क्या करना चाहिए?

लवर ब्वॉय

डियर लवर ब्वॉय,

प्यार कितना जादुई होता है, है ना? दिल की तेज धड़कन... जो अजीब लेकिन खास अहसास...चोट, प्यार, वो सब कुछ...

मैं आपकी कम उम्र को दोष नहीं दूंगा, आप किसी भी उम्र में प्यार में पड़ सकते हैं. लेकिन किसी एक चीज को अपने जीवन का केंद्र न बनने दें. जीवन में कई खूबसूरत चीजें हैं, प्यार को उनमें से एक रहने दें.

मुझे सच में अच्छा लगा कि आप अपनी भावनाओं को समझ सकते हैं. जहां कई लोग शर्म से भर जाते हैं, आपने बताने और कबूल करने की हिम्मत की और इस तरह अपने ख्यालों को किसी की कल्पना पर नहीं छोड़ा.

हमें ये महसूस करने का अधिकार है कि हम किसी के बारे में क्या महसूस करते हैं, हालांकि हमें यह भी स्वीकार करना होगा कि लोग भी महसूस करते होंगे कि वे हमारे बारे में क्या महसूस करते हैं

उसे यह महसूस करने का अधिकार है कि वह क्या महसूस करती है.

याद रखें, दूसरे हमारे बारे में क्या सोचते हैं, इसमें हमारा दखल नहीं हो सकता.

उसे आपसे बात करने के लिए मजबूर न करें. उसे उसके हाल पर छोड़ दें. छोड़ना भी प्यार करना है. प्यार का अंत भी, प्यार है. उसे खामोश रहने दें और अगर वह चाहे- तो गुमनामी में. उसे सफाई देने की कोशिश न करें कि आप दिलफेंक आशिक नहीं हैं.

मुस्कान के साथ,

रेनबोमैन.

अंतिम बात: आप किसी को आपसे प्यार करने के लिए मजबूर नहीं कर सकते.

‘मेरी चचेरी बहन ने मेरे ब्रेस्ट को दबाया, मुझे लगता है कि उसने हद पार की है’

अगर दो महिलाओं के बीच सहमति का सम्मान नहीं किया जाता है, तो यह ठीक नहीं है.
अगर दो महिलाओं के बीच सहमति का सम्मान नहीं किया जाता है, तो यह ठीक नहीं है.
(फोटो: iStockphoto)

डियर रेनबोमैन,

मैं पिछले 3 सालों से अपनी मां और अपनी चचेरी बहन के साथ रह रही हूं. कल रात मेरी चचेरी बहन ने मेरे ब्रेस्ट को दबाया. वह मुझसे बड़ी है. मुझे लगता है कि उसने हद पार की है. क्या मुझे उससे जवाब मांगना चाहिए?

भ्रमित महिला

डियर भ्रमित महिला,

मैं जवाब मांगने के बारे में नहीं जानता, लेकिन आप और आपकी चचेरी बहन के बीच एक बातचीत निश्चित रूप से होनी चाहिए. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि सेक्स या जेंडर या किसी की सेक्शुअलटी क्या है. अगर दो महिलाओं के बीच सहमति का सम्मान नहीं किया जाता है, तो ये ठीक नहीं है.

अगर आपको लगता है कि हद पार की गई है, तो बोलें और उस शख्स को बताएं.

सवाल-जवाब से ज्यादा, बातचीत पर ध्यान देना बेहतर होगा.

इस मुद्दे को अपनी चचेरी बहन के सामने उठाएं. उसे बताएं कि आप उसके बारे में कैसा महसूस करती हैं. मेरा सुझाव है कि आप उसे शर्मिंदा ना करें, बल्कि बातचीत में साफ तौर से बताएं कि आप क्या महसूस करती हैं. अस्पष्टता के लिए कुछ भी न छोड़ें.

मुस्कान के साथ

रेनबोमैन.

(लोगों की पहचान सुरक्षित रखने के लिए नाम और कुछ ब्योरे बदल दिए गए हैं. आप भी अपने सवाल sexolve@thequint.com पर भेज सकते हैं.)

(हरीश अय्यर एलजीबीटी कम्युनिटी, महिलाओं, बच्चों और जानवरों के अधिकारों के लिए काम करने वाले समान अधिकार एक्टिविस्ट हैं.)

(FIT अब Telegram पर उपलब्ध है. जिन मुद्दों की आपको परवाह है, उन पर चुनिंदा स्टोरी हासिल करने के लिए हमें Telegram पर सब्सक्राइब करें.)

Follow our सेक्सॉल्व section for more stories.

Loading...