डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों को दीपिका का मैसेज, ‘आप अकेले नहीं हो’
दीपिका ने नवंबर में अपनी शादी से पहले उन लोगों के लिए एक लेटर लिखा, जो किसी मानसिक दिक्कत से पीड़ित हैं.
दीपिका ने नवंबर में अपनी शादी से पहले उन लोगों के लिए एक लेटर लिखा, जो किसी मानसिक दिक्कत से पीड़ित हैं.(फोटो: @deepikapadukone)

डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों को दीपिका का मैसेज, ‘आप अकेले नहीं हो’

जब मशहूर हस्तियां उन मुद्दों पर अपनी बात रखते हैं, जिनके बारे में बात करना एक 'टैबू' माना जाता है, तब उसके प्रभाव को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता. एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण उन्हीं हस्तियों में से एक हैं, जिन्होंने अपने डिप्रेशन और एंग्जाइटी के अनुभव पर खुलकर बात की ताकि दूसरे भी उनसे प्रेरित हो सकें.

तब से दीपिका मेंटल हेल्थ के बारे में जागरुकता फैलाने का काम कर रही हैं. Elle India ने दीपिका का लिखा एक लेटर पोस्ट किया है. ये लेटर दीपिका ने नवंबर में अपनी शादी से पहले उन लोगों के सपोर्ट में लिखा, जो किसी मानसिक दिक्कत से पीड़ित हैं.

(फोटो: Instagram/Elle India)
(फोटो: Instagram/Elle India)

दीपिका ने लिखा...

प्रिय पाठकों,

जैसा कि आपमें से कुछ लोग जानते होंगे कि 2014 की गर्मियों में मुझे खुद के एंग्जाइटी (चिंता) और क्लीनिकल डिप्रेशन (अवसाद) से पीड़ित होने का पता चला था. समय से प्रोफेशनल हेल्प और मेरी परवाह करने वालों की मदद से मैं ठीक हो सकी. जब मैंने इस बारे में पढ़ना शुरू किया, मुझे पता चला कि मेरी तरह लाखों लोग हैं, जो चुपचाप इससे जूझ रहे हैं.

इसके बाद मैंने अपने अनुभव के बारे में नेशनल टीवी पर बताने का फैसला किया. इस उम्मीद के साथ कि इससे और लोग भी प्रेरित होकर मदद मांगें.

स्ट्रेस (तनाव), एंग्जाइटी (चिंता) और डिप्रेशन (अवसाद) के बारे में जागरुकता, साथ ही मानसिक बीमारियों से जुड़े स्टिग्मा को कम करने के लिए जून, 2015 में मैंने Live Love Laugh Foundation बनाया.

जागरुकता फैलाने के लिए अब ये फाउंडेशन फ्लैगशिप प्रोग्राम चलाता है. हम मेंटल हेल्थ की फील्ड में काम करने वाले ऑर्गनाइजेशन, रिसर्च को फंड करते हैं और देश भर में जन जागरुकता अभियान चलाते हैं.

कुछ हफ्तों पहले, हमने मानसिक बीमारियों के सर्वाइवर्स के साथ एक खास कैंपेन #NotAshamed लॉन्च किया है. इसका मकसद है कि जो लोग डिप्रेशन या दूसरी मानसिक बीमारियों से जूझ रहे हैं, वो मदद मांगने के लिए सहज हो सकें और हम इस बात को लेकर उत्साहित हैं, जिस तरह से इस कैंपेन को अपनाया गया.

जिसे भी अपनी जिंदगी में अंधेरा दिखता है, उसे मैं कहना चाहती हूं कि आप अकेले नहीं हो और आपके लिए मदद हमेशा उपलब्ध है. स्टीफन फ्राइ के शब्दों में, "एक दिन सूरज जरूर निकलेगा".

Live, Love & Laugh

दीपिका ने बताया कि फाउंडेशन ने एक कैंपेन #NotAshamed की शुरुआत की है. इस कैंपेन का मकसद उन लोगों को प्रेरित करना है, जो मेंटल हेल्थ से जुड़ी किसी समस्या का सामना कर रहे हैं, ताकि वो खुलकर हेल्प मांग सकें.

इसी साल Live Love Laugh फाउंडेशन ने भारत में मेंटल हेल्थ पर एक सर्वे रिलीज किया था, जिसमें ये बात सामने आई थी कि भारतीयों में मेंटल हेल्थ को लेकर जागरुकता बढ़ी है, लेकिन इसका स्टिग्मा काफी है. हमें अभी इसी से लड़ाई लड़नी है.

Follow our फिट माइंड section for more stories.