दिल को दुरुस्त रखना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में करें ये बदलाव
खाने में प्लांट-बेस्ड फूड ज्यादा और एनिमल-बेस्ट फूड कम होने से हार्ट अटैक, स्ट्रोक या दूसरी कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों का जोखिम घट सकता है.
खाने में प्लांट-बेस्ड फूड ज्यादा और एनिमल-बेस्ट फूड कम होने से हार्ट अटैक, स्ट्रोक या दूसरी कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों का जोखिम घट सकता है.(फोटो: iStock)

दिल को दुरुस्त रखना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में करें ये बदलाव

अगर आप अपने दिल को बिल्कुल फिट रखना चाहते हैं, तो प्लांट-बेस्ट फूड आइटम ज्यादा लें और एनिमल प्रोडक्ट्स कम से कम खाएं. एक नई स्टडी में बताया गया है कि डाइट में प्लांट-बेस्ट फूड आइटम ज्यादा शामिल करने से कार्डियोवैस्कुलर बीमारियां से मौत का रिस्क घटता है.

प्लांट-बेस्ड डाइट में ज्यादातर खाने की ऐसी चीजें होती हैं, जो पौधों से मिलती हैं, जिसमें सब्जियां, अनाज, मेवे, बीज, फलिया और फल शामिल हैं. प्लांट-बेस्ड डाइट में एनिमल प्रोडक्ट्स बहुत कम या बिल्कुल नहीं होते हैं. 

अमेरिका में जॉन हॉपकिंस ब्लूमबर्ग स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में एसिस्टेंट प्रोफेसर और इस स्टडी के लीड रिसर्चर केशी एम रीब्होल्ज ने कहा:

खाने में प्लांट-बेस्ड फूड ज्यादा और एनिमल-बेस्ट फूड कम होने से हार्ट अटैक, स्ट्रोक या दूसरी कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों का जोखिम घट सकता है.

ये स्टडी अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के जर्नल में पब्लिश की गई है. 1987 से 2016 तक की गई स्टडी के मुताबिक जिन लोगों ने ज्यादातर प्लांट-बेस्ट फूड आइटम अपनी डाइट में शामिल किए, उनमें हार्ट अटैक, स्ट्रोक, हार्ट फेल और दूसरी दिल से जुड़ी बीमारियों का जोखिम 16 प्रतिशत कम पाया गया, दिल की बीमारियों से मौत का जोखिम 32 फीसदी कम रहा और किसी भी कारण से मौत का जोखिम उन लोगों के मुकाबले 25 फीसदी कम देखा गया, जिन्होंने बहुत कम प्लांट-बेस्ट फूड आइटम अपने डाइट में शामिल किए थे.

ये भी पढ़ें : इस ‘दिल’ के लिए रोजमर्रा की जिंदगी में करें ये 10 हेल्दी बदलाव

(इनपुट: IANS)

Follow our ये दिल section for more stories.

Loading...