फिट वेबकूफ: क्या खाली पेट गर्म पानी पीने से कैंसर ठीक हो सकता है?
गर्म पानी पीना सेहत के लिए फायदेमंद है, लेकिन इससे बीमारियों के जड़ से खत्म होने का दावा गलत है.
गर्म पानी पीना सेहत के लिए फायदेमंद है, लेकिन इससे बीमारियों के जड़ से खत्म होने का दावा गलत है.(फोटो: श्रुति माथुर)

फिट वेबकूफ: क्या खाली पेट गर्म पानी पीने से कैंसर ठीक हो सकता है?

आपने अपने पैरेंट्स या बड़े-बुजुर्गों को गर्म पानी पीने के फायदों के बारे में बताते हुए जरूर सुना होगा. सुबह-सुबह गर्म पानी पीना सेहत के लिए काफी फायदेमंद भी माना जाता है. लेकिन सोशल मीडिया पर शेयर किए जा रहे एक मैसेज में ये दावा किया जा रहा है कि अगर आप सुबह उठ कर चार गिलास गर्म पानी पीएं, तो कई बीमारियों से छुटकारा पा सकते हैं.

क्या है दावा?

(फोटो: सोशल मीडिया)
Loading...

सोशल मीडिया पर वायरल इस मैसेज में गर्म पानी पीने से कई बीमारियों के तय दिनों के अंदर खत्म होने का दावा किया गया है.

जिसमें कैंसर को 9 महीने, ब्लड प्रेशर 30 दिन, डायबिटीज 30 दिन, माइग्रेन और सिर दर्द 3 दिन के अंदर, नसों के ब्लॉकेज से 6 महीने के अंदर छुटकारा मिल जाने का दावा शामिल है.

क्या है सच्चाई?

इस खबर को इससे पहले Hoaxfact.com ने ब्रेक किया था, जिसमें ये कहा गया है कि सुबह-सवेरे खाली पेट पानी पीना बहुत सारी बीमारियों में फायदेमंद है. ये शरीर को हाइड्रेटेड रखने, साफ और सेहतमंद रखने में मददगार होता है. लेकिन ये अकेले किसी बीमारी के इलाज के लिए काफी नहीं है.

क्या कहते हैं विशेषज्ञ?

फिट ने इस मैसेज की सच्चाई जानने के लिए मैक्स हेल्थकेयर के गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉ अश्विनी सेतिया से बात की.

डॉ सेतिया इस मैसेज में बताए गए ‘जापानी डॉक्टर्स के द्वारा प्रमाणिकता’ वाली बात को गलत बताते हुए कहते हैं:

जैसा कि इस मैसेज में दावा किया गया है, उस पर किसी तरह का सबूत नहीं है, जो इस दावे की पुष्टि करता हो. अभी तक इस तरह की कोई स्टडी नहीं आई है, जो ये कहती हो कि गर्म पानी पीने से सभी तरह की बीमारियां हमेशा के लिए ठीक हो सकती हैं.

डॉ अश्विनी कहते हैं कि अगर सिर्फ सुबह गर्म पानी पीने से सिर से लेकर पैर तक की सभी बीमारियां जड़ से खत्म हो जाती, तो हमें कभी किसी डॉक्टर या हकीम की जरूरत नहीं होती.

आयुर्वेद तो सामान्य सेहत के लिए सुबह गर्म पानी पीने की ही सलाह देता है, लेकिन जहां तक गर्म पानी से इलाज की बात है तो इस तरह की कोई भी स्टडी नहीं आई है, जो ये कहे कि कैंसर, डायबिटीज या किसी बीमारी का इलाज गर्म पानी पीने से हो सकता है.
डॉ अश्विनी सेतिया, गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट, मैक्स हेल्थकेयर

हम चाय, कॉफी की शक्ल में हमेशा गर्म पानी का सेवन करते आए हैं जो कि 90 प्रतिशत तक गर्म पानी ही है.

अपोलो हॉस्पिटल में चीफ क्लीनिकल डाइटिशियन डॉ प्रियंका रोहतगी गर्म पानी से कई बीमारियों के खत्म होने वाली बात पर कहती हैं कि

गर्म पानी बेशक बहुत फायदेमंद है, लेकिन ये कहना गलत होगा कि इससे बीमारियों का इलाज मुमकिन है.
डॉ प्रियंका रोहतगी

अब रही ठंडा पानी पीने से नुकसान की बात, इस पर डॉ सेतिया कहते हैं कि इंसान ‘वार्म ब्लडेड’ प्राणी है यानी जिसका अंदरूनी तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है. आप भले ही आइसक्रीम, कोल्ड ड्रिंक पीते हों, तो उसका भी हमें ऐसा कोई नुकसान नहीं है, जैसा इस मैसेज में दावा किया गया है.

अमेरिका में जिन जगहों पर टेम्परेचर कम होता है, वहां भी लोग ठंडे पानी में, ड्रिंक्स में बर्फ डाल कर पीते हैं, तो किसी को इससे कोई नुकसान नहीं होता है.

ठंडा पानी पीने से लिवर में फैट जमा होने की बात बेबुनियाद

जहां तक ठंडा पानी पीने से लिवर में फैट जमा होने की बात है, उस पर डॉ सेतिया कहते हैं कि लिवर पर फैट जमा होने की वजह बहुत सारी बीमारियां होती हैं या मेटाबॉलिक सिंड्रोम हो सकता है. लेकिन ठंडा पानी पीने से लिवर में फैट जमा होने की बात बेबुनियाद है.

डॉ प्रियंका रोहतगी मानती हैं कि गर्म पानी पीने के कई फायदे हैं. गर्म पानी शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाने और ऑर्गन के प्रोटेक्शन में मददगार होता है. यही वजह है कि हेल्थ प्रैक्टिशनर इसके सेहत पर होने वाले फायदे को देखते हुए गर्म पानी पीने की सलाह देते हैं.

उसी तरह गर्मी के दिनों में आप ठंडा पानी पी सकते हैं, जो शरीर के तापमान को जल्दी ठंडा करता है.

निष्कर्ष

डॉ सेतिया कहते हैं:

जिस तरह ठंडा पानी पीने से कोई नुकसान नहीं है, उसी तरह गर्म पानी पीने से कोई नुकसान नहीं बल्कि फायदा है. लेकिन सिर्फ गर्म पानी पीने से बीमारियां जड़ से खत्म नहीं हो जाएंगी. अगर आप गर्म पानी के भरोसे अपनी बीमारियों का इलाज नहीं करा रहे हैं, तो ये गलत है.

डॉ सेतिया के मुताबिक सोशल मीडिया पर वायरल किसी मैसेज पर इतना भरोसा कर लेना ठीक नहीं है, सेहत से जुड़ी किसी भी चीज को अमल में लाने से पहले किसी मेडिकल प्रैक्टिशनर की सलाह लेनी चाहिए.

ये भी पढ़ें : फिट वेबकूफ: क्या हमें खड़े होकर पानी नहीं पीना चाहिए?

Follow our सेहतनामा section for more stories.

    Loading...