कांग्रेस जिलाध्यक्ष रतन सिंह की हार्ट अटैक से मौत
भारत में हार्ट अटैक मौत का एक बड़ा कारण है.
भारत में हार्ट अटैक मौत का एक बड़ा कारण है. (फोटो: iStock)

कांग्रेस जिलाध्यक्ष रतन सिंह की हार्ट अटैक से मौत

मध्य प्रदेश में सीहोर जिला कांग्रेस अध्यक्ष रतन सिंह ठाकुर की हार्ट अटैक से मौत हो गई.

रिपोर्ट्स के मुताबिक रतन सिंह ठाकुर मतगणना केंद्र पर वोटों की गिनती देखने पहुंचे थे, लेकिन अचानक उन्होंने सीने में दर्द की शिकायत की और बेहोश होकर गिर पड़े. उन्हें तुरंत करीब के हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई.

भारत में बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामले

भारत में हार्ट अटैक मौत का एक बड़ा कारण है. साल 2017 में आई ग्लोबल बर्डन ऑफ डिजीज रिपोर्ट के मुताबिक हार्ट अटैक के कारण साल 2016 में 17 लाख लोगों की मौत हुई थी.

हार्ट की दिक्कतें अब बुजुर्गों की बीमारी नहीं रही. आजकल 20 से 30 साल तक के लोग भी कार्डियोवैस्कुलर बीमारियों से जूझ रहे हैं. यहां तक कि जो लोग दिखने में फिट लगते हैं, वो भी पूरी तरह से सुरक्षित नहीं हैं.

इसीलिए डॉक्टर हर साल कार्डियक चेकअप की सलाह देते हैं. 25 की उम्र से ही कुछ बेसिक टेस्ट कराने चाहिए. अगर हार्ट के दिक्कतों की फैमिली हिस्ट्री है या ज्यादा रिस्क है, तो 10-15 की उम्र से ही कोलेस्ट्रॉल लेवल चेक कराना चाहिए. 

दिल की बीमारियों से बचने के उपाय

  • इसके जोखिम कारकों से बचें और उन्हें कम करने की कोशिश करें, जैसे स्मोकिंग, मोटापा, हाई बीपी और खराब लाइफस्टाइल.
  • रोजाना एक्सरसाइज करें. इसका मतलब जरूरत से ज्यादा वर्कआउट नहीं है. दरअसल, बॉडी बिल्डिंग और सप्लीमेंट्स से आपको नुकसान भी हो सकता है. दिल को दुरुस्त रखने के लिए 45 मिनट तक टहलना भी काफी है.
  • खानपान पर ध्यान दें. फल व सब्जियों का सेवन करें. मलाई, मक्खन, मिठाई और मटन न खाएं. इन चीजों का सेवन कम से कम होना चाहिए.
  • काम और लाइफ में बैलेंस के साथ स्ट्रेस से डील करें. तनावपूर्ण जिंदगी से बचने के लिए परिवार, दोस्तों के साथ वक्त बिताएं और अपनी पसंद की चीजें करें, रिलैक्स करें.
  • नियमित तौर पर अपनी जांच कराते रहें.

ये भी पढ़ें : दिल को दुरुस्त रखना है तो कम उम्र से ही अपनाएं ये 6 उपाय

Follow our सेहतनामा section for more stories.