WebQoof: क्या आम खाकर कोल्ड ड्रिंक पीने से जा सकती है जान?
क्या है इस मैसेज की सच्चाई?
क्या है इस मैसेज की सच्चाई?(फोटो: iStock)

WebQoof: क्या आम खाकर कोल्ड ड्रिंक पीने से जा सकती है जान?

गर्मियां आ चुकी हैं. बाजार में फलों के राजा आम की एंट्री हो चुकी है और इसके साथ ही सोशल मीडिया पर एक मैसेज फॉरवर्ड करने का भी सिलसिला शुरू हो गया है.

सोशल मीडिया पर आगे बढ़ाए जा रहे इस मैसेज में बताया जा रहा है कि आम खाने के बाद कोल्ड ड्रिंक पीना जानलेवा हो सकता है. खुद पढ़ लीजिए:

वॉट्सएप पर फॉरवर्ड किए गए मैसेज का स्क्रीनशॉट.

इस मैसेज में कहा गया है कि आम के सिट्रिक एसिड और कार्बनिक एसिड मिलकर जहर बनाते हैं.

क्या वाकई में ऐसा हो सकता है? ये जानने के लिए हमने कुछ एक्सपर्ट्स से संपर्क किया.

क्या है इस मैसेज की सच्चाई?

इस मैसेज को देखकर मैक्स हॉस्पिटल में सीनियर गैस्ट्रोएंट्रोलॉजिस्ट डॉ अश्विनी सेतिया ने कहा, 'पहली बात, मुझे नहीं पता ये खबर कितनी सच है. आम खाने से कोई प्रॉब्लम हुई नहीं होगी, आम कबसे खाया जा रहा है. वहीं कोल्ड ड्रिंक भी काफी समय से आ रही है. मैंने ऐसा कुछ कभी नहीं देखा.'

आम और कोल्ड ड्रिंक की केमिस्ट्री

आम के सिट्रिक एसिड और कोल्ड ड्रिंक के कार्बनिक एसिड से मिलकर बनने वाले जहर की बात पर केमिस्ट्री के एक्सपर्ट इस तरह के टॉक्सिक रिएक्शन से इनकार करते हैं.

इस रिएक्शन का कोई साइंटिफिक कन्फर्मेशन नहीं है. आम में बेहद कम मात्रा में, जिसे हम नगण्य मानते हैं, सिट्रिक एसिड होता है. 

अपोलो हॉस्पिटल चीफ क्लीनिकल डाइटिशियन डॉ प्रियंका रोहतगी कहती हैं कि इस तरह के मैसेज पिछले 2-3 साल से सोशल मीडिया पर सर्कुलेट हो रहे हैं, इसमें कोई तथ्य नहीं है.

डॉ सेतिया बताते हैं कि अगर किसी तरह के नुकसान के बारे में विचार किया भी जाए, तो एक बात ये है कि आम आजकल आर्टिफिशियली पकाए जाते हैं. आम को कैल्शियम कार्बाइड से पकाया जाता है, जो पाउडर फॉर्म में होते हैं. कैल्शियम कार्बाइड वातावरण में मौजूद नमी से रिएक्शन कर एसिटिलीन बनाता है, जो आम को पकाती है.

अगर आम धुले नहीं गए हों, उस पर पाउडर लगा रह गया हो और उस पाउडर को काफी ज्यादा मात्रा में कंज्यूम कर लिया गया हो, तब कुछ दिक्कत होने के बारे में सोच सकते हैं. लेकिन मरने वाली स्थिति नहीं आती, एक्यूट टॉक्सिसिटी नहीं होती.
डॉ सेतिया

इसके अलावा कैल्शियम कार्बाइड का इतना कॉन्सेंट्रेशन नहीं होता कि उसका कोई एक्यूट इफेक्ट हो. अगर कैल्शियम कार्बाइड अंदर जाता भी है, तो जलन कर सकता है.

इसलिए मुझे नहीं लगता कि सोशल मीडिया पर किया जा रहा दावा सही है. एक तरह से ये लोगों में दहशत फैलाने वाली बात है. 
डॉ सेतिया

हेल्दी नहीं होती कोल्ड ड्रिंक

ये बेहद सामान्य बात है कि हम अक्सर गर्मी से तंग आकर ठंडी ड्रिंक्स (कोल्ड ड्रिंक या सॉफ्ट ड्रिंक्स) का सहारा लेते हैं. हालांकि डॉक्टर्स कार्बोनेटेड ड्रिंक्स की बजाए लस्सी, शिकंजी, आम पना जैसी घर पर तैयार ड्रिंक्स को बेहतर बताते हैं.

वहीं आम हो या कोई भी फल उसे अच्छी तरह से धोकर ही खाना चाहिए.

लेकिन जो बात इस मैसेज में कही जा रही है, उसका कोई वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है.

(अगर आपके पास भी सेहत से जुड़ा कोई मैसेज है, जिसकी सच्चाई आप जानना चाहते हैं, तो fithindi@thequint.com पर भेज सकते हैं.)

ये भी पढ़ें : WebQoof:क्या 1 किलो आम, 1 दर्जन केला खाकर डायबिटीज ठीक हो सकता है?

Follow our सेहतनामा section for more stories.