गुजरात में चांदीपुरा वायरस से 1 बच्ची की मौत, चार और संदिग्ध मामले
चांदीपुरा वायरस ज्यादातर सैंड फ्लाई और कभी-कभी मच्छरों से फैलता है.
चांदीपुरा वायरस ज्यादातर सैंड फ्लाई और कभी-कभी मच्छरों से फैलता है.(फोटो: Wikimedia Commons)

गुजरात में चांदीपुरा वायरस से 1 बच्ची की मौत, चार और संदिग्ध मामले

चांदीपुरा वायरस को लेकर गुजरात में स्वास्थ्य अधिकारी अलर्ट पर हैं. हाल ही में इस बात की पुष्टि हुई है कि 30 जून को भायली गांव में रहने वाली एक पांच साल की बच्ची की मौत इसी वायरस के इंफेक्शन से हुई. बच्ची का ब्लड सैंपल पुणे के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) भेजा गया था.

वहीं मंगलवार 16 जुलाई को दाहोद में संदिग्ध चांदीपुरा वायरस इंफेक्शन के चार मामले दर्ज किए गए हैं. चांदीपुरा वायरस के इन संदिग्ध मामलों में दो बच्चों की मौत हो चुकी है जबकि दो बच्चों का इलाज चल रहा है.

Loading...

चांदीपुरा वायरस का संक्रमण

इस वायरस के कारण दिमाग में इंफ्लेमेशन हो जाता है, ये इंफ्लूएंजा से कोमा और मौत तक की वजह बन सकता है.

चांदीपुरा वेसीक्यूलोवायरस की खोज सबसे पहले पुणे के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) के दो वायरोलॉजिस्ट ने 1965 में की थी, जो खासकर बच्चों (15 साल से कम उम्र के) को अपना शिकार बनाता है.

चांदीपुरा वायरस ज्यादातर सैंड फ्लाई और कभी-कभी मच्छरों से फैलता है. एनिमल स्टडीज के मुताबिक ये वायरस न्यूरॉन्स पर असर डालता है और न्यूरोडिजनरेशन का कारण बनता है. 

सैंड फ्लाइज ज्यादातर मॉनसून और प्री-मॉनसून सीजन में ब्रीड करती हैं और इसी दौरान चांदीपुरा वायरस के मामले भी देखे जाते है.

लक्षण

इसके लक्षणों में तेज बुखार के साथ सिर दर्द, ऐंठन, उल्टी और कभी-कभी बेहोशी देखी जाती है. लक्षणों को देखते हुए ही डॉक्टर ब्लड टेस्ट कराने की सलाह देते हैं.

इलाज

इसके इलाज के लिए कोई खास दवा नहीं है, हालांकि समय पर इसका पता चल जाने, रोगी को अस्पताल में भर्ती करने और लक्षणों का इलाज कर जान बचाई जा सकती है.

बचाव

चांदीपुरा वायरस के इंफेक्शन से बचने के लिए पोषण, साफ-सफाई, बेहतर स्वास्थ्य को लेकर जागरुकता फैलाने की जरूरत बताई जाती है.

वडोदरा के चीफ ड्रिस्ट्रिक्ट हेल्थ ऑफिसर डॉ उदय तिलावत ने बताया कि भायली और दूसरे इलाकों में रैपिड रेस्पॉन्स टीम को तैनात कर दिया गया है ताकि बचाव के उपाय किए जा सकें, जिसमें सैंड फ्लाइज के खात्मे के लिए डस्टिंग भी शामिल है.

(इनपुट: PTI और इंडियन एक्सप्रेस)

Follow our सेहतनामा section for more stories.

    Loading...