क्यों होती है चॉकलेट, चिप्स और आइसक्रीम खाने की क्रेविंग?
अपने पेट की सुनें... या नहीं!
अपने पेट की सुनें... या नहीं! (फोटो: iStock)

क्यों होती है चॉकलेट, चिप्स और आइसक्रीम खाने की क्रेविंग?

क्यों होती है कुछ विशेष खाने की तीव्र इच्छा?

नमकीन और करारे आलू के चिप्स, मुंह में घुल जाने वाली चॉकलेट, स्वादिष्ट केक, चीज़ से भरा पिज्जा या ठंडी-ठंडी आइसक्रीम?

कई बार ऐसी ही किसी चीज को खाने की आपकी प्रबल इच्छा होती होगी. वजह क्या है हम ठीक से नहीं कह सकते हैं लेकिन कुछ न्यूट्रिशनिस्ट इसे स्वास्थ्य से जोड़कर देखते हैं.

आइए जानें, कुछ खास तरह के भोजन को खाने की क्रेविंग के पीछे सेहत से जुड़ी कौन सी वजहें हो सकती हैं.

चॉकलेट

चॉकलेट की ताकत को कम  न समझें. 
चॉकलेट की ताकत को कम न समझें. 
(फोटो: iStock)

मुझे सिर्फ प्यार, शांति और सहानुभूति चाहिए.

क्या आप कभी ऐसा सोचते हैं? अक्सर पीरियड्स के पहले, गर्भावस्था के दौरान या बेहद तनाव भरे दिन के बाद हमारे ऐसी मनोस्थिति होती है. गौर करें तो ऐसे ही किसी समय में चॉकलेट खाने की तीव्र इच्छा भी होती है.

चॉकलेट में शुगर और फैट्स के अलावा एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं जो न केवल थकान दूर करते हैं बल्कि मूड को भी अच्छा बनाते हैं. इसलिए विशेष परिस्थितियों में इसकी जरूरत ज्यादा महसूस होती है.

चीज़ या पिज्ज़ा

अभी पिज्ज़ा खाने का मन है? 
अभी पिज्ज़ा खाने का मन है? 
(फोटो: iStock)

विशेषज्ञों का मानना है कि शरीर में फैटी एसिड की कमी के कारण भी लोगों को चीज़ औऱ पिज्जा खाने की तीव्र इच्छा हो सकती है.

बार-बार चीज़ खाने का मन करे तो हो सकता है कि आप भोजन में भरपूर फैट्स और विटामिन डी का सेवन पर्याप्त न कर पा रहे हों. ऐसे में पिज्ज़ा का कौर मुंह में रखते वक्त आपको ग्लानि की जरूरत नहीं.

आइसक्रीम

  आइसक्रीम  की बात ही कुछ और है ! 
  आइसक्रीम की बात ही कुछ और है ! 
(फोटो: iStock)

आइसक्रीम में क्रीमी फैट्स, शुगर और ठंडक का ऐसा एहसास है जो आपको बचपन की याद दिला देता है. यही वजह है कि इसे खाने की इच्छा तब भी होती है जब आप खाली होते हैं और छुट्टियां मना रहे होते हैं, साथ ही तब भी होती है जब आप ऑफिस की डेडलाइन को दिमाग में भरे होते हैं.

चिप्स जैसे नमकीन स्नैक्स

आपको पसंद है केचप  के साथ फ्रेंच फ्राइज़ ? 
आपको पसंद है केचप के साथ फ्रेंच फ्राइज़ ? 
(फोटो: iStock)

क्या आपने पानी कम पिया है? अक्सर डीहाइड्रेशन के कारण शरीर में नमक की कमी होती है जिसे पूरा करने के लिए नमकीन चीजें खाने का मन करता है. ऐसे में पानी खूब पिएं.

कई बार इसकी वजह अत्याधिक तनाव भी हो सकता है. यूनिवर्सिटी ऑफ उटाह के शोध की मानें तो नमकीन स्नैक्स लेने के पहले गहरी सांस लेने या थोड़ी देर ध्यान करना अच्छा रहता है.

मीट की इच्छा

प्रोटीन की  जरूरत पूरी करता है मीट 
प्रोटीन की जरूरत पूरी करता है मीट 
(फोटो: iStock)

आप जितना अधिक काम करेंगे, शरीर को प्रोटीन की उतनी अधिक जरूरत होगी. खासतौर पर जिम में कड़ी मेहनत करने वाले लोगों के लिए भरपूर प्रोटीन का सेवन जरूरी है.

कई बार विटामिन बी और आयरन की कमी के कारण भी मीट और बर्गर जैसी हेवी डाइट की तेज इच्छा होती है.

ऐसे में क्या करें

घर पर बनाएं सेहतमंद बर्गर
घर पर बनाएं सेहतमंद बर्गर
(फोटो: iStock)

ज्यादा मुश्किल नहीं है, बस संतुलित डाइट लें. भोजन छोड़ने या पोषक तत्वों की कमी के कारण ही ये सब होता है तो उस कमी को दूर करें.

साथ ही, पानी पीने में आलस बिल्कुल न करें. दफ्तर जाने वाले 80 प्रतिशत लोग डीहाइड्रेटेड होते हैं. ऐसे में खाने से आधा घंटा पहले पानी पीने को अपनी आदत ही बना लें.

Follow our फिट ज़ायका section for more stories.