आपकी डाइट में जरूर शामिल होना चाहिए ‘अखरोट’, जानिए इसके 7 फायदे
अखरोट दिमाग के स्वास्थ्य के लिए बेजोड़ हैं
अखरोट दिमाग के स्वास्थ्य के लिए बेजोड़ हैं(फोटो: iStock)

आपकी डाइट में जरूर शामिल होना चाहिए ‘अखरोट’, जानिए इसके 7 फायदे

बात जब तंदरुस्ती की आती है, तो गोलमोल सा अखरोट- अपार शक्ति का भंडार है. इसे बढ़ते कोलेस्ट्रॉल लेवल, वजन बढ़ने और डायबिटीज के खिलाफ जबरदस्त तरीके से काम करने के लिए जाना जाता है. अखरोट प्रोटीन, एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन और जरूरी मिनरल्स से भरपूर होता है. सबसे खास बात ये है कि अखरोट ओमेगा-3 फैटी एसिड से युक्त होता है, जो दिमाग की गतिविधियों को तेज करता है और मजबूत दिमाग के कामकाज को बढ़ावा देता है.

और इनका टेस्ट भी बहुत अच्छा होता है! इसे सलाद में डालें, इसे फलों में मिलाएं, इसे डेजर्ट में इस्तेमाल करें या शाम से पहले के नाश्ते में चबाएं.

अखरोट के फायदे

(कार्ड: इरम गौर)

अखरोट के कई फायदे देखते हुए हमने इस सुपर नट के विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के बारे में विस्तार से जानने के लिए न्यूट्रिबाउंड में न्यूट्रिशनिस्ट और क्लिनिकल डायटीशियन, हुदा शेख से बात की. उन्होंने जो बताया, वो आप भी जान लीजिए:

1. दिल को सेहतमंद रखता है अखरोट

दिल को स्वस्थ रखने में मददगार होता है अखरोट.
दिल को स्वस्थ रखने में मददगार होता है अखरोट.
(फोटो: iStock)

अखरोट ओमेगा-3 फैटी एसिड और अमीनो एसिड से भरपूर होता है, इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल को निकालने और दिल को स्वस्थ रखने में मददगार होता है.

2. दिमाग का भोजन

ये देखने में मानव मस्तिष्क की एक छोटी प्रतिकृति होते हैं. अंदर की बाकी बनावट भी शक की कोई गुंजाइश नहीं छोड़ती है, लेकिन यही अकेला कारण नहीं है कि अखरोट मस्तिष्क के लिए अच्छा फूड माना जाता है. जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन, हेल्थ एंड एजिंग में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, सिर्फ एक मुट्ठी अखरोट को स्नैक्स के रूप में या भोजन के हिस्से के रूप में खाने से संज्ञानात्मक सेहत अच्छी होती है. अध्ययन में ये भी दावा किया गया है कि अखरोट याददाश्त के साथ दिमाग के काम की गति को भी बढ़ाता है.

डाइटीशियन हुदा शेख भी इससे सहमत हैं,

अखरोट में भरपूर न्यूरोप्रोटेक्टिव कंपाउंड्स होते हैं- जैसे कि विटामिन ई, फोलेट, मेलाटोनिन, ओमेगा 3 फैटी एसिड और एंटीऑक्सिडेंट - जो कि ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस को कम करते हैं और दिमाग की रक्षा करते हैं और उम्र बढ़ने के साथ दिमाग के संज्ञानात्मक और संचालन कार्यों में सुधार करते हैं.

ये भी पढ़ें : आपके दिमाग की ‘बत्ती’ जला देंगे ये 7 फूड आइटम 

Loading...

3. आंत की सेहत के लिए बेजोड़ हैं अखरोट

अखरोट आंत में गुड बैक्टीरिया की मौजूदगी को बढ़ा सकते हैं
अखरोट आंत में गुड बैक्टीरिया की मौजूदगी को बढ़ा सकते हैं
(फोटो: iStock)

अखरोट आंत में बैक्टीरिया की विविधता को बढ़ाता है. द जर्नल ऑफ न्यूट्रिशनल बायोकेमिस्ट्री में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक, बैक्टीरिया की बढ़ी हुई गतिविधि मोटापा और जलन को कम करती है.

अखरोट प्रोबायोटिक्स के रूप में काम करते हैं और आंत में गुड बैक्टीरिया की मौजूदगी को बढ़ा सकते हैं, जिससे पाचन में सुधार होता है और बदले में आंत का स्वास्थ्य अच्छा होता है.
हुदा शेख, न्यूट्रिशनिस्ट और क्लिनिकल डाइटीशियन

4. भूख घटाता है, ओवर-ईटिंग रोकता है अखरोट

डायबिटीज, ओबेसिटी एंड मेटाबॉलिज्म जर्नल में छपे एक अध्ययन के नतीजों के मुताबिक, “अखरोट खाने से भूख और भूख की सोच कम हो जाती है और राइट इंसुला (दिमाग का अंदरूनी दाहिना हिस्सा) में सही भोजन के लिए सक्रियता बढ़ जाती है.” आसान शब्दों में कहें तो अखरोट पेट भरा होने की भावना को बढ़ावा देता है और जरूरत से ज्यादा खाने से रोकता है.

ये भी पढ़ें : क्या होती है ‘इमोशनल ईटिंग’? क्यों पड़ जाती है इसकी आदत? 

5. पुरुषों में प्रजनन क्षमता को बढ़ाता है अखरोट

पूर्व में किए गए अध्ययनों में दावा किया गया है कि अगर अखरोट का 2.5 औंस रोजाना लिया जाता है, तो 21-35 साल के पुरुषों में स्पर्म की जीवनशक्ति और गतिशीलता बनी रहती है. डाइटीशियन हुदा शेख के मुताबिक, “रोजाना 75 ग्राम अखरोट खाने से पुरुष की प्रजनन क्षमता कई गुना बढ़ सकती है.”

6. अल्जाइमर को दूर रखता है अखरोट

फिर से अखरोट के समृद्ध पोषक तत्वों पर आते हैं. ओमेगा-3 फैटी एसिड, एंटीऑक्सिडेंट और विटामिन ई की मौजूदगी दिमाग के कामकाज में सुधार लाती है और अल्जाइमर बीमारी की रफ्तार को धीमा कर सकती है. डाइटीशियन शेख कहती हैं कि, यह भी एक वजह है कि अखरोट को दिमाग के भोजन के रूप में देखा जाता है.

7. नींद को नियंत्रित करता है अखरोट

अखरोट में मेलाटोनिन- नींद लाने वाला हार्मोन- होता है
अखरोट में मेलाटोनिन- नींद लाने वाला हार्मोन- होता है
(फोटो: iStock)

हमें स्वस्थ, सक्रिय और ऊर्जावान बनाए रखने के लिए रात की एक अच्छी नींद जरूरी है. डाइटीशियन हुदा शेख कहती हैं, “अखरोट में मेलाटोनिन- नींद लाने वाला हार्मोन- होता है, जिससे नींद को नियमित किया जाता है, जिससे हम दिन भर के काम के बाद आराम की नींद ले सकते हैं.”

सोने से पहले अपने डिनर के सलाद में कुछ अखरोट मिलाएं या एक गिलास दूध में मिलाकर लें.

ये भी पढ़ें : फिट Quiz: नींद ना आने की वजह जानते हैं आप?

Follow our फिट ज़ायका section for more stories.

Loading...