स्वस्थ रहने के लिए चुकंदर खाना है जरूरी, ये हैं पांच कारण
स्वस्थ रहने के लिए चुकंदर खाना है जरूरी
स्वस्थ रहने के लिए चुकंदर खाना है जरूरी(फोटो: iStock)

स्वस्थ रहने के लिए चुकंदर खाना है जरूरी, ये हैं पांच कारण

अपने गहरे लाल रंग और कसैले स्वाद के बावजूद चुकंदर को सबसे ज्यादा पौष्टिक माना जाता है. कई शोधों से साबित हो चुका है कि चुकंदर न सिर्फ महत्वपूर्ण पोषक तत्वों और विटामिन का समृद्ध स्रोत है बल्कि यह शरीर का स्टेमिना भी बढ़ाता है. इसके अलावा इसे प्रभावशाली ब्लड प्यूरीफायर भी माना जाता है.

लिहाजा, अब चुकंदर को किसी अन्य सलाद की तरह लेना बंद करें और इसे अपनी रोजाना की डाइट में शामिल करें. चुकंदर को सिर्फ सजाने के लिए और कभी-कभी अचार के तौर पर इस्तेमाल न करें. चुकंदर का जूस, सूप, करी, सेंडविच, रायता खाएं और हो सके तो इसे कच्चा खाने की कोशिश करें.

Loading...

चुकंदर को आपको क्यों अपने रोजाना के खाने का हिस्सा बनाना चाहिए, इसके पांच कारण यहां बता रहे हैं.

1. ब्लड प्रेशर घटाता है

न्यूट्रीशन जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन में पाया गया कि चुकंदर का जूस पीना, ''ब्लड प्रेशर कम कर सकता है अगर इसे स्वस्थ व्यस्कों की सामान्य डाइट के हिस्से के तौर पर खाया जाए.'' चुकंदर में नाइट्रेट होने के कारण ऐसा होता है- एक ऐसा घटक जो ब्लड प्रेशर कम करने में मदद करता है. यह गुण चुकंदर को ब्लड प्रेशर कम करने का एक किफायती और प्राकृतिक तरीका बनाता है.

2. एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर

चुकंदर का गाढ़ा लाल रंग इसमें मौजूद बेटानिन के कारण होता है, जो एक स्ट्रॉन्ग एंटीऑक्सीडेंट है- यह हानिकारक अणुओं (मॉलिक्यूल्स) को बाहर कर देता है, जिसके चलते शरीर स्वस्थ बना रहता है. बेटानिन के अलावा, चुकंदर में कई सारे एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं. न्यूट्रीएंट्स में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, चुकंदर एंटीऑक्सीडेंट्स का बेहतरीन स्रोत है जो ''ऑक्सीडेटिव तनाव के चलते प्रभावित अंगों जैसे लिवर इंजरी और कैंसर को मैनेज करने में मदद करता है.''

3. डिटॉक्सीफिकेशन में मदद

चुकंदर डिटॉक्सीफिकेशन के लिए बहुत अच्छा माना जाता है. शोधकर्ताओं का मानना है कि चुकंदर में पाए जाने वाले घटक उन तत्वों से भरे होते हैं जो पाचन तंत्र और यकृत को शुद्ध करते हैं, और तंत्र से विषाक्त पदार्थों को हटा देते हैं. एग्रीकल्चर एंड फूड केमिस्ट्री के जर्नल में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, चुकंदर का जूस प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने वाला और कॉलेस्ट्रॉल घटाने वाला माना जाता है.

4. पोषक तत्वों और फाइबर का संग्रह

चुकंदर पोषक तत्वों का संग्रह होता है, खासतौर पर इसके हरे पत्ते जो कैल्शियम, आयरन और विटामिन ए और सी से भरपूर होते हैं. खासतौर पर चुकंदर में फॉलिक एसिड, पोटैशियम, आयरन और मैगनीज का उच्च कंसन्ट्रेशन भी होता है. प्रचलित मान्यता के उलट, चुकंदर के हरे पत्ते चुकंदर जितने ही पोषक होते हैं. चुकंदर में मौजूद फाइबर पाचन कार्य को आसान बनाता है. न्यूट्रीएंट्स में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, चुकंदर के घटक विट्रो और विवो में शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेट्री और केमोप्रिवेंटिव गतिविधियां दिखाते हैं.

5. स्टेमिना बढ़ाता है

जर्नल ऑफ एप्लाइड साइकोलॉजी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, चुकंदर का जूस आपका स्टेमिना बढ़ाता है और आपको हष्ट-पुष्ट रखता है. इसलिए अगर आप बहुत कड़ी मेहनत वाली कसरत करने जा रहे हैं तो अब आपको पता है कि कौन से ड्रिंक पर निर्भर करना है.

चुकंदर में नाइट्रेट की बहुत अधिक मात्रा होती है जो स्टेमिना और मांसपेशियों की मजबूती बढ़ाकर आपकी कसरत को बेहतर बनाता है. हालांकि, शोधकर्ता मानते हैं कि इस मामले में आगे बड़े स्तर पर परीक्षण किए जाने की जरूरत है.

Follow our फिट ज़ायका section for more stories.

    Loading...