प्रदूषित हवा में रहने वाले क्या करें? जानिए कुछ आयुर्वेदिक टिप्स

प्रदूषित हवा में रहने वाले क्या करें? जानिए कुछ आयुर्वेदिक टिप्स

हटके इलाज

कैमरा: शिव कुमार मौर्य

वीडियो एडिटर: प्रशांत चौहान

प्रोड्यूसर: सुरभि गुप्ता

हम सभी जानते हैं कि एयर पॉल्यूशन हमारी जान ले रहा है. हर साल ठंड की शुरुआत होने के साथ ही इसका खतरा और बढ़ जाता है. प्रदूषित हवा ना सिर्फ हमारी फिजिकल हेल्थ बल्कि मेंटल हेल्थ को भी नुकसान पहुंचा रही है.

कई तरह के कैंसर, दिल की बीमारियां, स्ट्रोक और तमाम मानसिक विकारों की वजह वायु प्रदूषण है. जाहिर है, हमें वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने की जरूरत है. लेकिन अगर आप प्रदूषित हवा के संपर्क में रह रहे हैं, तो क्या करें?

जीवा आयुर्वेद के डायरेक्टर डॉ प्रताप चौहान से जानिए एयर पॉल्यूशन और इसके हानिकारक प्रभावों से निपटने के लिए आप अपने स्तर पर क्या-क्या कर सकते हैं.

शरीर को डिटॉक्स करने की जरूरत

डॉ प्रताप चौहान बताते हैं कि आयुर्वेद में चिकित्सा करते वक्त सबसे पहला उद्देश्य बॉडी को डिटॉक्स करना होता है.

खासकर एयर पॉल्यूशन के मामले में क्योंकि टॉक्सिन अंदर जा चुके होते हैं.

इसके लिए आप नीम, तुलसी, हल्दी, त्रिफला चूर्ण, त्रिकटु चूर्ण का इस्तेमाल कर सकते हैं.

  • नीम के ताजे पत्तों का सेवन कर सकते हैं, नीम की टेबलेट्स ले सकते हैं और पानी में नीम के पत्ते उबाल कर उससे स्नान कर सकते हैं.
  • तुलसी का पौधा लगा सकते हैं, इसकी पत्तियों का सेवन कर सकते हैं.
  • घी या शहद में मिलाकर हल्दी का सेवन कर सकते हैं या फिर दूध में हल्दी डालकर पी सकते हैं.
  • रात को एक चम्मच त्रिफला चूर्ण गुनगुन पानी के साथ लेने से शरीर के काफी टॉक्सिन बाहर निकलते हैं.
  • त्रिकटु चूर्ण सांस से जुड़ी तकलीफों में बहुत राहत दे सकता है.

ये भी पढ़ें : जानिए आपके दिमाग को किस तरह नुकसान पहुंचा रही है ये प्रदूषित हवा

पंचकर्म चिकित्सा

डॉ चौहान बताते हैं, "जैसे आप गाड़ी की सर्विसिंग कराते हैं. इंजन खोलकर धुलाई कराते हैं, तेल पानी सब चेक कराते हैं, चेंज कराते हैं. ऐसे ही आयुर्वेद में पंचकर्म चिकित्सा है."

जो पॉल्यूशन हमारे डिपर लेवल में चला गया है, सेल्युलर लेवल में चला गया है, हमारे धातु लेवल में चला गया है.उसको साफ करने के लिए पंचकर्म चिकित्सा बहुत बढ़िया काम करती है.
डॉ प्रताप चौहान, जीवा आयुर्वेद

नाक में नियमित रूप से दो-दो बूंद शुद्ध देसी घी डालें, तो इससे आपको लाभ होगा.

एयर पॉल्यूशन से निपटने के लिए और क्या कर सकते हैं?

  • काफी सारे इंडोर प्लांट्स जैसे एलोवेरा, मनी प्लांट, स्पाइडर प्लांट, स्नेक प्लांट, एरिका पाल्म हैं, जो पॉल्यूशन से फाइट करने में मददगार हो सकते हैं.
  • रोजाना तिल के तेल से शरीर की मालिश करें.
  • च्यवनप्राश का सेवन करें, ये फेफड़ों के लिए बहुत फायदेमंद होता है और इम्यूनिटी बढ़ाता है.

(एयर पॉल्यूशन पर फिट #PollutionKaSolution कैंपेन लॉन्च कर रहा है. आप भी हमारी इस मुहिम का हिस्सा बन सकते हैं. आप #AirPollution को लेकर अपने सवाल, समाधान और आइडियाज FIT@thequint.com पर भेज सकते हैं.)

ये भी पढ़ें : घर के अंदर भी बेहद प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं आप

Follow our हटके इलाज section for more stories.

हटके इलाज